Currently browsing tag

आसमान

13015154_10205948307898339_7638101663022060172_n

ऐ सरज़मीं तुझे सलाम 

स्याह रातों में कभी तारों भरा आसमान देखा है आपने? अगर हां तो आसमान में आरपार फैली कहकशां और उसके चमकते बेशुमार …