Currently browsing

October 11, 2015

सुनो वीरेन

यार अचानक यह खबर कि, अलस्सुबह चार बजे बरेली से चले गए तुम। यकीनन नहीं लगी यकीन करने लायक। जा कहां सकने …