Currently browsing

August 21, 2012

100_1467r

बेल का वह सुकोमल स्पर्श

सुबह के धुंधले उजाले में सैर करते समय अचानक हाथ से अमृत बेल की हवा में झूलती नर्म बांह छू गई। मैं …