Currently browsing category

Vigyan Diary

Meri Vigyan Diary

indian-alphonso-mango

आम के नाम

आज चंद पंक्तियां आम के नाम। आम तो बस आम है। इसका कोई जवाब नहीं। खास ही नहीं, आम आदमी का भी …

superstition_052614122609

 चोटीकाट चालू आहे

मानसिक उन्माद, फिर एक बार! अब सुना है, मुंबई में चोटीकाट का कारनामा शुरू हो गया है। हे, मेरे देश, कब छंटेगा …

26March11 257fa

यहां एक पेड़ था

यहां एक पेड़ था, वो क्या हुआ? महानगर दिल्ली में आया था तो उस चौराहे पर पीपल का एक बड़ा पेड़ था। …

Sita-Ashok_(Saraca_asoca)_flowers_in_Kolkata_W_IMG_414611111

खिल गया है सीता- अशोक

  आज अचानक नारंगी-लाल रंग के खूबसूरत फूलों से लदे सीता-अशोक को देखा तो देखता ही रह गया। इसे हमारे देश का …

17202803_10208270273266022_3095349092313845711_n

टिहरी के उस गांव में

बेटे मनु ने पूछा, “चार दिन की छुट्टियां हैं। कहीं बाहर चलें?” मैंने कहा, “जरूर चलें।” “आपको कैसी जगह पसंद है?” “ऐसी …

IMG-20170209-WA0004

 चौरास में प्रेरणा

बचपन में ही किस तरह बच्चों को विज्ञान की राह पर आगे बढ़ने की प्रेरणा दी जा सकती है, यह प्रयोग ‘इंस्पायर’ …

21930491

फिर आया बड़ा बसंता

  बड़ा बसंता आज फिर आया। सामने ऐलेस्टोनिया के पेड़ की हरीभरी डाली पर बैठा बोलने लगा- कुटरू…कुटरू…कुटरू…कुटरू! बसंता आसपास के पेड़ों …

निराला है मशरूम

पहले तक मशरूम मेरे लिए केवल कुकुरमुत्ता था जिसे पहाड़ के मेरे गांव में च्यूं कहते थे। वहां जंगलों में बरसात के …

dscn16021122

डाक्टर कैथ

  पांच सितंबर को फेसबुक मित्र आशीष श्रीवास्तव की वाल पर कैथ और कैथ की चटनी का चित्र देखा तो मुझे मंदसौर …